06 April 2009

क्या कहेंगे प्रदेश की इस स्थिति पर?

हम आये दिन देखते हैं कि जब हम आपस में चर्चा करते हैं तो समाज की स्थिति पर अवश्य ही चर्चा करते हैं। समाज में क्या चल रहा है, राजनीति में क्या चल रहा है आदि पर चर्चा होती रहती है। हम भी इस तरह की चर्चाओं में अपनी भागीदारी करते रहते हैं।
समाचार पत्र भी सामाजिक स्थिति को बताने में बेहतर भूमिका का निर्वाह करते हैं। इधर चुनाव का मौसम आने से समाचार पत्रों में चुनाव पर चर्चा अधिक हो रही है। जैसा कि आदत में शुमार है सुबह की चाय और अखवार।
समाचार पत्र में चुनाव या फिर कुछ इधर उधर की और कुछ स्थानीय खबरों पर निगाह डाल कर समाचार पत्र पढ़ने की इतिश्री कर लेते हैं। (स्थानीय समाचारों में हमें भी स्थान मिल जाता है सो उनका पढ़ना तो अवश्य ही होता है।)
पिछले दो तीन दिनों से कुछ खास नहीं दिखा समाचारों में पर जैसा कि बाल में खाल निकालने की आदत सी है, मीडिया से भी जुड़ाव है, सामाजिक संस्थाओं से भी सम्पर्क बना है तो समाचारों को पोस्टमार्टम करने की दृष्टि से अधिक देखते हैं। इसी कारण लगा कि जो हमें विशेष लगा वो आपके सामने भी रखा जाये, जिससे पता लग सके कि हमारे समाज की वाकई यही स्थिति है या फिर मीडिया द्वारा इसे इस प्रकार का दिखाया जाता है।

उत्तर प्रदेश के एक प्रमुख समाचार पत्र ‘अमर उजाला’ में आज दिनांक 6 अप्रैल 2009 के बुन्देलखण्ड संस्करण में प्रदेश-आसपास के अन्तर्गत दो पृष्ठ समाचारों के हैं। इनमें प्रदेश के समाचारों से अवगत कराया जाता है, आज भी कराया गया।

आपके सामने पूरा समाचार न रखकर समाचार का शीर्षक ही रखेंगे, इसी से आप अंदाजा लगा लीजिएगा कि प्रदेश की क्या स्थिति है।

प्रदेश-आसपास पृष्ठ 10 में प्रकाशित समाचार-

1- एचटी लाइन का तार टूटकर गिरने से ताई-भतीजे की मौत
2- पीडब्ल्यूडी कर्मचारी से की टप्पेबाजी
3- पिहानी में आग से 60 बीघा फसल राख
4- कछौना में भी आग लगी
5- बंधक बनाकर छात्रा से तीन दिन तक दुराचार
6- दोस्त से ही मांग ली 25 लाख की रंगदारी
7- बस की टक्कर से बालक मरा, साथी घायल
8- मां की मौत के बाद पुत्र की भी मौत
9- संदिग्ध हालत में मौत, हत्या का आरोप
10- सोनभद्र में विस्फोटक संग महिला गिरफ्तार
11- किशोरी ने बलात्कारी को मार डाला
12- एक्सप्रेस से टकराने से बची मालगाड़ी
13- नाले में सुरंग बना कर उड़ाये शाप से जेवर
14- व्यापारी से मांगी तीन लाख की रंगदारी
15- आग से बालक जिंदा जला


(इसी पृष्ठ पर झलक शीर्षक से दिए गये कुछ समाचार)

1- पत्नी के दुपट्टे से फांसी लगा झूल गया
2- संदिग्ध दशा में महिला का शव फांसी पर लटका मिला
3- मधुमिता के घर से सुरक्षा गारद हटाई गई
4- सीतापुर में पुलिस टीम पर दागीं 10 राउण्ड गोलियां
5- जीप की टक्कर से बच्चे की जान गई


ये हैं पृष्ठ 10 के समाचार, अब एक झलक पृष्ठ 11 के समाचारों पर भी

1- प्रेम संबंध में बाधक बनने पर हुई थी बसपा नेता की हत्या
2- तीन मासूमों सहित छह लोग जिंदा जले
3- रफ्तार ने ली दो सगे भाइयों की जान
4- पलटने से बची केरला एक्सप्रेस
5- हादसा टला: क्रेक टेक से गुजर गई लिच्छवी एक्सप्रेस
6- बैटरी चोर गैंग पकड़ा गया
7- सफर दुश्वार: अब जनता एक्सप्रेस में लुटा यात्री
8- सरेशाम युवक का बाजार से अपहरण
9- संभलकर इस्तेमाल करें पराया एटीएम
10- ठेकेदार और उसकी मां की गोली मार कर हत्या
11- न्यायिक अधिकारी के घर की महिलाओं से लूट
12- स्कूली बस में उतरा करेंट, बाल-बाल बचे बच्चे
13- दो तांत्रिकों की गोली मारकर हत्या, एक घायल


ये हैं प्रदेश-आसपास की स्थिति, क्या कहेंगे आप?


चुनावी चकल्लस-

अपने पर विश्वास नहीं, गैरों की खिदमत करते हैं,
अपने कर्म नहीं देखें, दूजों पर ताने कसते हैं,
ऊँची गाड़ी, ऊँचे बँगले, वो राजा जैसे दिखते हैं, है लोकतांत्रिक देश मगर, वो तानाशाही करते हैं।

4 comments:

RAJNISH PARIHAR said...

yahi haal desh ke anya samaachar patron ka bhi hai...is tathakathit TRP ke chakkar me ye aise samachar hi chhapenge....

Science Bloggers Association said...

सिर्फ कहने से कुछ नहीं होगा भाई। उसके लिए कुछ करना भी होगा।

-----------
तस्‍लीम
साइंस ब्‍लॉगर्स असोसिएशन

Anil said...

खेदजनक! ये अखबार छापनेवाले हजारों पेड़ों को मारकर उनकी खाल पर बुरी खबरें ही क्यों छापते हैं? क्या अखबारों को अपने ऊपर अच्छी खबरें छपवाने का अधिकार नहीं?

Abhishek Mishra said...

अखबारों ने भी ख़बरों से ज्यादा नाम छपने की ठान ली है, ताकि इनकी बिक्री बढे.