27 July 2008

धमाके, आंसू, आश्वासन, कब तक?

फ़िर धमाके, फ़िर मौतें, फ़िर आश्वासन, फ़िर बयांवाजियाँ, फ़िर न झुकने की बातें, फ़िर????????????????फ़िर वही धमाके. कब तक ये आंसू बहेंगे? कब तक??????????

No comments: