15 July 2010

मदद---मदद --- HELP --- HELP --- समाधान करें...ब्लॉग नहीं खुल रहा है...



कृपया इस समस्या का समाधान जल्द से जल्द करने का कष्ट करें।

(चित्र गूगल छवियों से साभार)

उरई शहर से डॉ0 ब्रजेश कुमार के प्रधान सम्पादन में साहित्यिक पत्रिका का प्रकाशन प्रति चार माह में होता है। हमने स्पंदन के अधिक से अधिक लोगों तक प्रसार की दृष्टि से इसका ब्लॉग बना दिया था। इस ब्लॉग पर प्रकाशित होने वाली पत्रिका स्पंदन की सामग्री को पोस्ट कर देते हैं।

स्पंदन पत्रिका के लिए बने ब्लॉग का यूआरएल है http://spandansahitya.blogspot.com

अब समस्या यह है कि पिछले कुछ माह से इस यूआरएल के द्वारा ब्लॉग को खोला नहीं जा रहा है अर्थात जब इस यूआरएल के द्वारा ब्लॉग को पढ़ने का प्रयास होता है तो वह पेज नॉट फाउंड दिखाता है।

जब सेटिंग में जाकर प्रकाशन के द्वारा इस यूआरएल को बदल कर इसकी जगह कोई दूसरा यूआरएल भर दें तो फिर इस ब्लॉग को देखा जा सकता है।

यह भी देखा है कि यूआरएल में spandan (स्पंदन) का प्रयोग होने पर ब्लॉग नहीं खुल रहा है। यूआरएल में spandan (स्पंदन) का प्रयोग नहीं हो तो ब्लॉग कभी भी आसानी से खुल जाता है अन्यथा इस ब्लॉग को बिलकुल भी नहीं देखा जा सकता है।

इस समस्या को हमने कई बार ब्लॉग की समस्याओं को सुलझाने वाले और ब्लॉगर्स को नई-नई तकनीक बताने वाले कई महानुभावों को (आशीष खण्डेलवाल जी को भी) लिखा किन्तु किसी के द्वारा इसका समाधान नहीं सुझाया गया।

आप सभी से निवेदन है कि कृपया इस समस्या का समाधान करने का कष्ट करें अन्यथा की दृष्टि में हमें इस ब्लॉग का यूआरएल ही बदलना होगा। यूआरएल हम इस कारण नहीं बदलना चाहते क्योंकि इसका प्रचार-प्रसार बहुत अधिक और बहुत से लोगों में हो चुका है।

आशा है समाधान आप लोगों द्वारा निकलेगा।



4 comments:

ललित शर्मा said...

मिलता जुलता एक नए युआरएल का ब्लाग बना लें और उसमें पुराने ब्लाग का बैकअप लेकर लोड कर लें, पूरा पुराना ब्लाग नए में आ जाएगा।
यु आर एल नया हो जाएगा। ब्लाग का नाम पुराना ही रख लें।

हमारी तो इतनी ही समझ में आया।
और कोई ब्लाग गुरु लोग इससे अच्छी तकनीक भी बता सके तो हमें भी जानकारी मिल जाएगी।

ललित शर्मा said...

आपकी पोस्ट ब्लॉग4वार्ता में

भूली बिसरी बात पुरानी,
याद आई है एक कहानी

आशीष खण्डेलवाल (Ashish Khandelwal) said...

Kumarendra ji, aap mujhse phone par sampark kar sakte hain... phone number aapko mail kar diye hain..

Happy Blogging

सर्प संसार said...

कुछ समझ में नहीं आया भाई, वर्ना आपकी हैल्प अवश्य करते।
................
नाग बाबा का कारनामा।
व्यायाम और सेक्स का आपसी सम्बंध?