30 October 2009

किफायती दिवस पर किफायती पोस्ट - एक पंक्ति का चुटकुला

समाचार-पत्रों के माध्यम से पता चला कि आज किफायती दिवस है। (सही क्या ग़लत क्या, पता नहीं?) इस कारण ये किफायती पोस्ट - एक चुटकुला -

"एक बुढ़िया बचपन में ही मर गई."

6 comments:

अजय कुमार said...

हा--

परमजीत बाली said...
This comment has been removed by the author.
परमजीत बाली said...

और उसकी माँ उसके पैदा होने से पहले ही...:))

Udan Tashtari said...

एकदम किफायत से:

"श्रृद्धांजलि" उस बाल बुढ़िया को. :)


और उसकी माँ को भी...जो उसके पैदा होने से पहले ही..चल बसी.:))

Dr.Aditya Kumar said...

किफायतीदिवस पर सार्थक पोस्ट के लिए बधाई ..'.एक बुढ़िया बचपन में ही मर गयी ' आज एक चुटकला नहीं हकीकत है ... देश में लाखों बच्चे ऐसे हैं जिनका बचपन में ही बुढापा आ जाता है और अभावों में वे दम तोड़ देते हैं

Dipak 'Mashal' said...

sach me kifayati post hai.. :)