28 August 2009

आइये आपको बताएं व्यस्त कैसे रहा जाता है


आपको पता है कि खाली समय में क्या किया जाता है? नहीं न? तो आप अपने आसपास क्यों नही देखते हैं? आपके आसपास ही इतना सब हो रहा है और आप कहते हैं कि आपको नहीं पता।
हाँ, ये बात और है कि आप कहेंगे कि हम खाली ही नहीं रहते। चलिए मान लिया, पर क्या किसी भी समय खाली नहीं रहते? घबराइये नहीं, ये सच का सामना नहीं है जो सवाल पे सवाल पूछे जा रहे हैं। बात ये है कि आप खाली तो रहते ही होंगे किसी न किसी समय तब?
आइये, देखिऐ, आपके सामने कुछ उदाहरण हैं जो खाली समय का सदुपयोग करना सिखा रहे हैं। एक किताब लिख दीजिए या फिर एक बयान जारी कर दीजिए या फिर कोई ऐसी बात कर दीजिए जिसके विरोध में बहुत लोग हों।
जसवन्त सिंह ने किताब लिखी विवाद हुआ। संथानम वैज्ञानिक ने परमाणु परीक्षण पर बयान दिया विवाद जारी। ये हैं तरीके व्यस्त रहने के।
आपके पास भी बहुत कुछ है। भई आपको लगता है कि आपके कहने से मीडिया नहीं जुटेगी तो कोई बात नहीं। अच्छा सा चाय पानी का इंतजाम करिए फिर देखिए। मीडिया को क्या चाहिए खबर, अब खबर कोई भी हो चलेगा।
बस अब तो आ गया आपकी समझ में कि करना क्या है। अपने पड़ोसी की बुराई करिए। पड़ोस में आने जाने वालों की गाड़ियों को पंचर करिए। आसपास खेलते बच्चों को परेशान करिए। और भी बहुत कुछ है करने को।
हाँ, आपने सही कहा कि आप किताब क्यों नहीं लिख सकते, आप बयान क्यों नहीं दे सकते? दीजिए बिलकुल दीजिए, हम नहीं रोकते हैं। बाद में न कहिएगा कि डंडे पड़े। कहाँ पड़े ये तो आप ही बतायेंगे। हम बता देगे तो आपका भी मजा खराब होगा।
चलिए देखिए अपने आसपास कुछ छोटी छोटी बातें और हो जाइये व्यस्त। हम भी चले व्यस्त होने।

6 comments:

LAKHAN LAL PAL said...

ham bhi ab vyast rahne kii koshish karenge.

Udan Tashtari said...

व्यस्त रहने के लिए टिप्पणियाँ किजिये..फिर खाली समय ढ़ूंढ़े भी न मिलेगा. :)

Dr.Aditya Kumar said...

'हम सुर्खियों में रहेगे कब्र में दफ़न होने तक ,अभी तो पैर ही लटके है कब्र में ' यही है हमारे राजनीतिज्ञों का फलसफा.

AlbelaKhatri.com said...

हा हा हा हा
वाह !

AKSHAY KATOCH said...

neta ban jaao vyast rahoge par padosi ko mat sataao. ek to waise hi ham logon ko sataa sataa kar maar rahaa hai.

Dr. Harshendra Singh Sengar said...

vyast rahna hai..........?????? koi aur kaam nahin hai????